कुल भूषण जाधव की रिहाई नहीं चाहता भारत उसके नाम से पाकिस्तान को बदनाम करना चाहता है पाकिस्तान की जेल में ६०० भारतीय और है उनकी बता क्यों नहीं
| 02 Sep 2019

कुल भूषण जाधव की रिहाई नहीं चाहता भारत उसके नाम से पाकिस्तान को बदनाम करना चाहता है
पाकिस्तान की जेल में ६०० भारतीय और है उनकी बता क्यों नहीं

आज कुल भूषण जाधव की रिहाई के लिए Counsel access दिया गया लेकिन जाधव ने अपने रटे रटाये ब्यान दिए , कुछ लोग बड़ी मुर्खता से इस बता की प्रसंशा कर रहे है की भारत ने पाकिस्तान पर दबाव बनाया और इसलिए पाकिस्तान ने Counsel access भारत को दिया जब की यह बात ध्यान रहनी चाहिए की यह

Counsel access agreement May 21, 2008 भारत और पाकिस्तान के बीच हुआ था इसके यह फैसला लिया गया की दोनों देश उन लोगो की लिस्ट जारी करेंगे जो उनकी जेलों में बंद है , इस लिस्ट के अनुसार ५४ सिविलियन और ४८३ मछुआरे पाकिस्तान की जेल में बंद है , यह बात सनद रहनी चाहिए कि ये वो लोग है जिनकी रिपोर्ट या सबूत भारत को मिले , लेकिन ऐसे हजारो लोग है जो गायब है .

भारत का मीडिया कुछ भी कहे लेकिन अभिनंदन को रिहा सिर्फ इसलिए किया गया की उसका विडियो वायरल हो गया था सो पाकिस्तान ने अपना एक अच्छा चेहरा पेश करने के लिए ये सब किया यह बात भूल जाना चाहिए की इस तरह की बात पाकिस्तान किसी डर से करेगा

भारत अगर कुलभूषण जाधव की बात कर सकता है तो पाकिस्तान के जेल में बंद टोटल ६०० भारतीय की बता क्यों नहीं कर रहा है , जाहिर बाकी लोगो के जरिये राजनीती नहीं हो पा रही इनको फायदा नहीं हो पा रहा इसलिए ये पूरा गेम सिर्फ फायदे का है