अमित शाह साबित होंगे मोदी से बेहतर प्रधानमन्त्री
| 11 Oct 2019

अमित शाह साबित होंगे मोदी से बेहतर प्रधानमन्त्री
जन उदय : यह बात कहने की जरूरत नहीं की अमित शाह और मोदी ने भाजपा को न सिर्फ इसके योवन तक पहुचाया है बल्कि जो कार्य संघ १९२५ से अब तक कर नहीं पाई थी वो कार्य इस जोड़ी ने करके दिखा दिया ..
इस जोड़ी ने अपनी जीत की शुरुआत गुजरात से की और फिर पुरे देश पर कब्जा कर लिया यह चमत्कार आपको केवल फिल्मो या कहानियों में मिल सकता है लेकिन असल जिन्दगी में इन दोनों ने करके दिखा दिया .
लेकिन सत्ता के संभालने के साथ जनता को जो उम्मीदे मोदी से थी

यानी जो कार्य भजापा को करना चाहिए था वो कार्य भाजपा ने नहीं किया या अस्रामर्थ रही और उसकी जगह हिंदुत्व के नाम पर एक ऐसा गुंडा सम्प्रदाय समाज में पैदा हो गया है न सिर्फ देश में बल्कि पुरे समाज में दहशत फैला रहा है , हलांकि भाजपा इन कार्यो से खुश है लेकिन इन सभी कामो ने भाजपा को फिर पतन की और मोड़ दिया है , राफेल हो , निजीकरण हो महंगाई बेरोजगारी , आर्थिक संकट , शिक्षा स्वास्थ हर क्षेत्र में देश पिछड़ता जा रहा है जिसका कारण स्वयम मोदी है

कुछ लोगो को यह महसूस होता होगा की मोदी अमित शाह भाजपा से है लेकिन अब यह हालत है की भाजपा और आर एस एस इन दोनों से है यानी ये दोनों अगर कही खड़े हो जाएंगे तो सम्ह लीजिये लाइन वाही से शुरू होगी , ये बात अलग है संघ के लिए सब सिर्फ कठपुतली होते है जरूरत पड़ी तो इनको भी हटा देगी

अमित शाह वो व्यक्ति है जिसने मोदी को बनाया है और मोदी वो व्यक्ति है जो आगे बढ़ता चला गया , यानी दोनों एक दुसरे के पूरक है लेकिन हर समय दिमाग रणनीति केवल अमित शाह की रहती है ,सारी बिसाते अमित शाह ही बिछाते है लेकिन उनको सही ढंग से खेलता मोदी है , क्योकि मोदी की लीड करने की क्षमता बोलने की क्षमता ,बिना सोचे समझे बयानबाजी , आक्रामक बयानबाजी सपनो के सौदागर वाली बयानबाजी भारत की जनता को बहुत भा जाति है और मोदी बस वही खेल खलेने लग जाते है , राष्ट्रवाद का इस्तेमाल भी इसलिए किया गया , मुसलमान और पाकिस्तान दोनों को सामने रख दोनों जनता को बेवकूफ खूब बना लेते है

लेकिन अब मोदी का पानी उतरने लगा है लोग अमित शाह की तरह के श्रेष्ट रणनीतिकार चाहते है , जनता जानती है की ३७० मोदी का नहीं अमित शाह का काम है , अमित शह में बोलने से लेकर बौधिक क्षमता मोदी से कई गुना अधिक है मैनेजमेंट स्तर पर शाह मोदी से कई आगे है और अब ऐसे संकट की स्थति में जनता को मोदी और बेवकूफ नहीं बना सकते इसलिए खिलाड़ी का बदलना जरूरी है और ऐसे समय में सिर्फ अमित शाह ही देश की अर्थ वाव्य्स्था को संभाल सकते है